e-RUPI क्या है, यह कैसे काम करता है और कहां इस्तेमाल हो सकता है? (2021) जानिए यहां सब कुछ

e-Rupi दोस्तों क्या आपको मालूम है कि e-Rupi क्या है यह कैसें काम करता है और इसके क्या क्या फायदे होगें, अगर आपको इसके बारे में पता नहीं है तो आज हम e-Rupi app download के बारे में सारी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से जानने वाले है,

 

 

वैसे दोस्तों हमारे देश में डिजिटल पैमेंट करने के लिए बहुत सारे तरीके पहले से मोजुद है जैसे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, ई-वॉलेट, UPI, google pay, फोन पे, भारत पे, paytm, जैसे प्लेटफार्म पहले से ही मोजुद है इन सब की मदद से हम घर बैठे भारत के किसी भी कोने में आनलाइन पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं,

 

तो फिर एक और डिजिटल केशलेस पेमेंट प्लेटफार्म की क्या जरूरत पड़ गई, तो चलिए जानते हैं  ई-रूपी क्या है यह कैसें काम करेंगा, और इसके क्या क्या फायदे होगें सारी जानकारी full details में जानगें है,

 

Also read:-

 

राज कुंद्रा की जीवनी | Raj kundra case 2021 

 

e-Rupi क्या है यह कैसें काम करता है

 

e-Rupi app एक तरह का डिजिटल कैशलेस पेमेंट प्लेटफार्म है, यह डिजिटल तरीके से पेमेंट करने का एक तरीका है, इसें पीएम मोदी ने 2 अगस्त 2021 को लाॅच किया है, शायद आपको मालूम होता, हमारे देश में डिजिटल कैशलेस की लेनदेन के लिए बहुत सारे प्लेटफार्म पहले से मोजुद है लेकिन यह उन सभी प्लेटफार्म से बिल्कुल अलग है, इसमें डिजिटल पेमेंट का तरीका अलग है, यह हर यूजर्स को वाउचर की शक्ल से मिलेगा,

 

 

e-Rupi एक तरफ का प्रीपेड गिफ्ट कार्ड है,जिसें use करनें करने वाला हर शक्ल अपनी सहूलियत के हिसाब से इसे इस्तेमाल कर सकता है, और इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें किसी इंटरनेट या बैंक अकाउंट की जरूरत नहीं पडेगी,

 

जैसे मान लिजिए कि सरकार ने किसी गरीब परिवारों को दवाई के लिए कुछ पैसे भेजना चाहतीं है, लेकिन दिक्कत यहाँ है कि सभी लोगों के पास बैंक अकाउंट नहीं है, ऐसे में सबसे बढ़िया तरीका यह है e-Rupi में सरकार वाउचर के तौर पर पैसा भेजेगी, इससें सरकार को भी पता चल सकें कि जो पैसा भेजा है वो पैसा दवाई में ही खर्च हुए हैं या कहीं और तो ऐसे में e-Rupi बहुत ही मददगार साबित होगा,

 

e-Rupi कैसे काम करता है, इसमें एक sms के तौर पर या क्यूआर कोड की मदद से e-Rupi में भेजा जा सकता हैं, इसका इस्तेमाल क्यूआर कोड प्राप्त करने वाले के हिसाब से कर सकता है, यानि जिसे यह क्यूआर कोड भेजा गया है वो ही शख्स अपने तय किए काम के लिए ही इस्तेमाल कर सकेगा, जैसे दवाई के लिए भेजा गया e-Rupi वाउचर जिसके फोन नंबर पर आया है इसें वही व्यक्ति दवाई के लिए ही इस्तेमाल कर सकता है, इस वाउचर के इस्तेमाल के बाद वाउचर जारी करने वाले ऑर्गेनाइजेशन को भी एक sms भेजा जाएगा कि वाउचर का उपयोग हुआ है या नहीं हुआ है,

 

 

ई-वाउचर कौन जारी करेगी,

 

इस e-Rupi प्लेटफार्म सिस्टम को नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) अपने upi प्लेटफार्म के जरिए चलाएगां इसके लिए उन्होंने उन सभी बैंकों से टाई अप किया गया है, जैसे अगर किसी सरकारी एजेंसी को e-RUPI वाउचर जारी करने हैं तो एजेंसी सबसे पहले उन बैकों से संपर्क करेगा, जिसे उन्होंने टाई अप किया गया है, इसमें सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक दोनों शामिल हैं,

 

 

e-Rupi वाउचर में ध्यान देने वाली बात यह है कि जो भी बैंक e-Rupi वाउचर जारी करेगा, वो जरुरी नहीं है कि वो ही बैंक इसें स्वीकार भी कर सकेंगा, यानि किसी व्यक्ति को xyz बैंक से जारी किया गया e-Rupi वाउचर मिला हो, तो जरूरी नहीं की वो ही बैंक इसें कैशलेस करने की सुविधा भी दे, जिस व्यक्ति को e-Rupi वाउचर भेजा जाता है उनकी जानकारी फोन नंबर के साथ बैक को देनी होगी, बैंक मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करेगा और ग्राहक को चिन्हित करके उसके मोबाइल नंबर पर e-RUPI वाउचर भेज देगा,

 

ई-वाउचर कौन कौन सी बैंक स्पोर्ट करेगी,

 

e-Rupi में बैंक दो तरीकों से काम करेंगे, पहला वो बैंक जो e-Rupi वाउचर जारी करेगा, और दूसरा वो जो e-Rupi को स्वीकार करेगा, इसके अलावा इसमें से कुछ कुछ बैंक ऐसे भी है जो यह दोनों तरह से काम करेंगे, अभी फिलहाल 11 बैंक ऐसे है जो e-Rupi को स्पोर्ट करेंगे, इन में से ICICI Bank, HDFC Bank, PNB एक्सिस बैंक और Bank of Baroda, जैसे बड़े बैंक इन वाउचर को जारी भी करेंगे और स्वीकार भी करेंगे, इसके अलावा कैनरा बैंक, इंड्सइंड बैंक, इंडियन बैंक, कोटक महिंद्रा और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, यह बैंक सिर्फ वाउचर जारी करेंगे,लेकिन स्वीकार नहीं करेंगे,

 

 

e-Rupi और डिजिटल करेंसी में क्या फर्क है, 

 

e-RUPI का सिस्टम ऐसा हैं कि उनके sms के जरिये पैसे पहुंचेंगे, लेकिन डिजिटल कंरेसी में ऐसा बिल्कुल नहीं है, e-RUPI में वाउचर भेजने वाला सिर्फ भारतीय कंरेसी का ही इस्तेमाल करेगा, ऐसे में यह डिजिटल कंरेसी से बिल्कुल अलग है, डिजिटल कंरेसी को सिर्फ सेंटल बैंक जारी करता हैं, इसमें सरकार की मान्यता प्राप्त होती है, और इसमें रुपए की वैल्यू बराबर होगी, इसमें फर्क सिर्फ इतना है कि डिजिटल कंरेसी एक कोड की शक्ल में जारी होगा,और इसें भारतीय रिजर्व बैंक डिजिटल कंरेसी लाने का काम करता है लेकिन अभी तक इसके बारे में स्पष्ट नहीं हुआ है,

 

ई-रूपी कौन कौन से देश इस्तेमाल करते हैं, 

 

भारत देश के अलावा कई देशों में यह e-Rupi app का इस्तेमाल पहले से कर रहें है, अमेरिका में सरकार गरीबों के बच्चों को पढाई के लिए वाउचर जारी करतीं हैं, यानि अगर स्कूल की फीस हो या किताबों को खरीदनी हो इसके लिए सरकार डिजिटल वाउचर जारी करतीं हैं, इसके लिए जैसी जरूरत उसके हिसाब से सरकार वाउचर जारी करतीं हैं, e-Rupi वाउचर अमेरिका में ही नहीं बल्कि कोलंबिया, चिली, स्वीडन, हॉन्ग कॉन्ग आदि देशों में भी इस तरह के डिजिटल वाउचर जरूरत मंदो के हिसाब से जारी करतीं हैं,

 

e-Rupi के क्या क्या फायदे हैं,

 

e-Rupi एक कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस डिजिटल भुगतान है, यह क्यूआर कोड या sms स्ट्रिंग के आधार पर e-voucher का काम करेगा, इसके जरिये सरकारी योजनाओं का फायदा सीधा लाभार्थियों को मिलेगा, इससें भष्ट्राचार कम होगा, इसमें यह भी फायदा है कि इसके लेनदेन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही सर्विस प्रोवाइडर को भुगतान किया जाएगा, इसमें एक टाइम पेमेंट सर्विस में users बिना कार्ड, डिजिटल पेमेंट, या इंन्टरनेट बैंकिंग के अलावा e-voucher को रिडीम कर सकेंगे,

 

e-Rupi का इस्तेमाल आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, बाल कल्याणकारी योजनाओं, दवाई देने वाली तमाम योजनाओं को जरूरतमंदो तक फायदा पहुंचाने का कार्य करेगा, इसका उपयोग डिजिटल वाउचर का निजी क्षेत्रों में कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारीयों के लिए किया जाएगा,

 

 

 

 

तो उम्मीद करता हूँ दोस्तों आपको e-Rupi voucher क्या है, और इसें e-rupi india download की सारी जानकारी मिल गई होगी, दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पंसद आई होतो इसें like & share जरूर करें, और इसके अलावा कोई भी किसी भी तरह की जानकारी पढ़ने के लिए हमें और हमारी साइट को फोलो (follow) जरूर करें, और हमारी साइट पर अपना किमती समय निकाल कर आने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद thank you so much,

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment